Bigg Boss Season 17 Episode 89 Highlights: घर में घुसते ही विक्की की मां ने अंकिता को गोद में बिठाया, शायरी और मस्ती से जीता सबका दिल

अब तक, हमने आयशा को बिग बॉस 17 में मुनव्वर फारूकी के खिलाफ बोलते देखा है। आयशा ने नॉमिनेशन के बाद बहुत गुस्सा होकर घरवालों को मुनव्वर के बारे में बताया, जो अब तक सभी को नहीं पता था। आयशा ने घरवालों को बताया कि मुनव्वर ने उनके अलावा कई और लड़कियों से प्रेम किया और मूर्ख बनाया था। इससे घर में घरवालों की फैमिली की एंट्री, यानी फ्रीज और रिलीज का खेल, शुरू होने वाला है।

घर अब थोड़ा बदल गया है। घर में सब कुछ फ्रीज हो गया है और अंकिता की मां आई है। एपिसोड के अलावा, बिग बॉस ने हर किसी को बाहर निकाला और घर के हर व्यक्ति को उनसे मिलने का अवसर मिला। अंकिता की मां को घरवाले सुंदर बताते हैं। अंकिता की मां से मिलने के बाद बिग बॉस उसे निकाल देते हैं। विक्की को फ्रीज करने के बाद बिग बॉस खेलना शुरू होता है। अंकित को छोड़ते ही वह दौड़कर मां से जाती है और उसे गले लगाती है।

अंकिता की मां विक्की और अंकिता को समझाती हैं

मन्नारा, दूसरी ओर, मुनव्वर से एक बार फिर बात करता है और कहता है कि उन्हें कुछ नहीं कहना चाहिए था। मन्नारा कहती है कि हर कोई अपने पप छोड़ देता है क्यों? वह आयशा को भी गलत बताती है। अंकिता की मां, विक्की, उसे बताती है कि बाहर जो कुछ दिख रहा है वह अच्छा नहीं है।

उसने कहा कि दोनों शब्दों को एक-दूसरे के लिए सही शब्दों का चयन करना चाहिए ताकि वे बाहर अपने लोगों को देखकर इन शब्दों का अर्थ नहीं समझ सकें। बाहर क्या हो रहा है अंकिता और विक्की नहीं जानते और उनकी बातें सुनकर खुश हो जाते हैं। विक्की अपनी मां से मजाक करते हुए कहते हैं, “मां, मुझे आशीर्वाद दो कि मुझे इसके साथ रहने की सहनशक्ति दे।””

बाद में अंकिता अपनी मां से अकेले बात करती है। अंकिता की मां बेटी को समझाने की कोशिश करती हैं कि बाहर जो दिख रहा है अच्छा नहीं है और घरवालों को ये अच्छा नहीं लगता है। मैं कुछ नहीं बोलूंगी क्योंकि अंकित विक्की ने कहा कि वह मेरा पक्ष नहीं लेता, बल्कि दूसरों का पक्ष लेता है।

विक्की जैन की मां ने मारी घर में एंट्री

विक्की जैन की मां रंजना जैन घर में आती है और मन्नारा से गले लगाती है। उन्हें लगता है कि वे फ्रीज हैं जब मन्नारा उन्हें चॉकलेट खिलाती है। विक्की दिखते हैं कि हंसते हैं। अभिषेक और मुनव्वर उनकी मां से मिलते हैं, लेकिन कोई नहीं बदलता। उन्हें देखकर वे खुश हो जाते हैं। जब मन्नारा और अभिषेक बिग बॉस से बाहर निकाले जाते हैं, तो वे फिर से मिलते हैं।

फिर ईशा, मुनव्वर और समर्थ सभी को छोड़ते हैं। अंकिता को घरवाले छोड़ देते हैं और विक्की की मां से मजाक करते हैं। “आजा अंकिता, मेरी रानी बहू, मेरी गोद में बैठ जाओ,” फिर से कहती है विक्की की मां।विक्की अंततः छोड़ दिया जाता है और अपनी मां से मिलता है। विक्की की मां शेरो शायरी करती है, जिसे घरवाले सुनते हैं। मां बहुत सुंदर हैं, लेख बताता है

विक्की की मां और अकिता ने घर के सभी लोगों के लिए खाना बनाया। विक्की की मां मन्नारा कहती हैं कि छोटे-छोटे चीजों को हवा में उड़ाना चाहिए। अरुण को बिग बॉस की बैठक में बुलाते हैं, जहां उनकी पत्नी मलक है। मलक उनसे गले लगाकर रोने लगती है, फिर बताती है कि वे मिसकैरेज कर चुकी हैं। यह खबर सुनकर अरुण रोने लगे।

Makla कहते हैं कि उन्हें स्ट्रॉन्ग होना चाहिए क्योंकि वह भगवान का था और उसके पास चला गया था। तब मलक बाहर निकल जाती है और घरवालों से मिलती है। वह कहती है कि क्योंकि विक्की अंकिता से अच्छे नहीं हैं, इसलिए वे उनसे नाराज हैं। अरुण का मेकअप देखकर मलक पूछती हैं कि किसका है। जवाब में अरूण कहते हैं कि देखो, हर जगह कैमरा है।

सासु मां से बोलीं अंकिता- मैं मां-बाप की प्राउड बेटी हूं, मेरे मां-पापा के लिए मत बोलो प्लीज

बिग बॉस अंततः अंकित और उनकी माँ को अलग कमरे में बुलाता है। बिग बॉस में रंजना जैन ने पूछा कि क्या आप अंकिता से कुछ कहना या पूछना चाहते हैं? यहाँ आप पूछ सकते हैं। “अंकिता, तुम जानती हो कि हम इस शादी से बहुत खुश थे, हर कोई तुम्हारी फोटो देखकर खुश होता था,” विक्की की मां कहती है।

वह कहती है कि आप लोग बहुत लड़ते हैं क्योंकि पिता शो देखकर बहुत नाराज हुए। क्या आपके पिता ने आपको बताया कि आप भी अपने पति को ऐसा ही करती थीं जब आपने विक्की पर हाथ उठाया, जैसा कि विक्की की माँ बताती है? यह सुनकर अंकिता परेशान हो जाती है और कहती है कि जो हम कर रहे हैं, आप हमको बताओ; मेरे पिता नहीं हैं, मेरी माँ को बताओ।

उसकी सासु मां कहती हैं, “विक्की पर हाथ उठाती हो, ऐसे बोलती हो तो लोग कहते हैं कि इनके बीच ऐसा ही संघर्ष था क्या।” अंकिता कहती है कि मेरे मां-पापा इसमें शामिल नहीं हैं; यद्यपि वे मुझे बहुत अच्छी तरह से परवरिश दी हैं, कृपया मेरे माता-पिता के बारे में मत बोलो। किसी को भी मेरी बातों से बुरा लगा हो तो मैं उनसे माफी मांगता हूँ। मैं हाथ जोड़कर अपने पापा और घर के हर व्यक्ति से कहती हूँ।

“विक्की ने कभी मुझे शो में अप्रीशिएट नहीं किया,” अंकित कहती हैं। आप इन चीजों को देखा या नहीं जानते। जितने दिन बचे हैं, मर्यादा में रहो, आपस में लड़ो मत, मेरी माँ का कहना है। मैं बोलना पड़ा क्योंकि विक्की की मां ने कहा कि मेरे परिवार में 108 लोग हैं। अंकित ने अपनी मां को बताया कि उनकी सासु मां ने उन्हें बताया था जब उनके पिता ने फोन किया। हाँ, उनकी मां ने कहा, लेकिन इन बातों को हवा देने की जरूरत नहीं है।

अंकिता की सास कहती हैं- कई बार तुमलोग मर्यादा तोड़ देते हो

उन्हें अपनी मां बार-बार वही बताती दिखती है। अंकिता अपनी सासु मां से पूछती है: क्या हुआ? कोई परेशानी हुई? मां ने बताया। “हर बार हम एक साथ होते हैं तो कभी हो जाता है,” अंकित कहती हैं। उनकी सासु मां कहती हैं कि इतनी बड़ी परिवार को सब देखते हैं, इसलिए उसे अच्छा नहीं लगता।

मां कहती है कि आपकी लड़ाई कई बार इतनी बढ़ जाती है कि पापा टीवी बंद कर देते हैं। उसने कहा कि आप नियमों का उल्लंघन कर रहे हैं। वह बार-बार पूछती है कि क्या उन्होंने अपशब्द प्रयोग किए हैं या नहीं। तुम्हारी सास कहती है कि 15 दिनों में एक पति को देवता बना ले, वह भी तुम्हें प्यार करता है, तो घर बार-बार मिलेगा क्या? वह बताती है कि शो का संघर्ष पिता को पहले से ही अच्छा नहीं लगता था।

ईशा और मन्नारा दूसरी ओर संघर्ष करते हैं। मन्नारा ने ईशा से कहा कि मुनव्वर को जानना चाहती है क्योंकि वह अपने पत्ते को साफ करना चाहती है। इसे सुनकर मन्नारा क्रोधित हो जाती है। ईशा का इंटेंशन जानकर मन्नारा बहुत नाराज होती हैं और लड़ती हैं। मुनव्वर मन्नारा कहते हैं कि उन्हें अपने मन की बात कहनी चाहिए।

अंकिता मां से अपने मैटर पर बात करती है। अंकिता की कोशिश है कि लोग हमें नहीं जानते, चप्पा उठाकर कुछ मारा है। विक्की की मां ने अंकित को बताया कि उनका बेटा कभी किसी को बहन कहता है क्या, वह अपने बेटे के लिए खुश है लेकिन मेरे लिए नहीं। “मम्मा, कभी-कभी मुझे बहुत अकेला लगता है,” अंकिता कहती है।

Also Read:

Leave a Comment